Monday, April 6, 2009

जो लोग हिंदुत्व के खिलाफ जुबान खोलते हैं उनका सिर कलम कर देना चाहिए।

कर्नाटक में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी और विपक्षी कांग्रेस के नेताओं की जुबानी जंग अब हाथ काटने और सिर कलम करने के स्तर तक जा पहुंची है। कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री कगोदू थिम्माप्पा के हिंदुत्ववादियों के हाथ काटने बयान के जवाब में होन्नाली से बीजेपी के विधायक एम.पी. रेणुकाचार्या ने कहा है कि जो लोग हिंदुत्व के खिलाफ जुबान खोलते हैं उनका सिर कलम कर देना चाहिए। थिम्माप्पा के खिलाफ शिमोगा में कर्नाटक पुलिस आपराधिक मामला दर्ज कर चुकी है और बीजेपी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ रिपोर्ट भी मांगी है। इस बयान के बाद बीजेपी विधायक की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं। उनके खिलाफ पहले से ही कई मामले चल रहे हैं।
रविवार को यहां संवाददाताओं से बात करते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि चुनाव आयोग को थिम्माप्पा को उसी तरह से दंडित करना चाहिए जिस तरह से वरुण गांधी सजा भुगत रहे हैं। उन्होंने कांग्रेसी नेता के बयान का जवाब देते हुए कहा कि फिर हिंदुत्व के विरोध में बोलने वालों का सिर कलम करने में क्या गलत है। कांग्रेस और जेडी (एस)के आरोपों को अनर्गल प्रलाप करार देते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने अल्पसंख्यकों के लिए बहुत कुछ किया है। बीजेपी विधायक रेणुकाचार्या पहले भी गलत कारणों से सुर्खियों में रह चुके हैं। इससे पहले नर्स जयालक्ष्मी को धमकाने के मामले में भी उनके खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी हो चुका है। जयालक्ष्मी ने विधायक पर आरोप लगाया था कि वह उनकी आपत्तिजमनक तस्वीरें सार्वजनिक करने की धमकी दे रहे हैं। इसके अलावा भी उनके खिलाफ 16 मामले दर्ज हैं।

1 comment:

Anil said...

जाने क्या बयार बही
जिस-जिसने प्रसिद्ध होना चाहा
उसने हाथ काटने की बात कही